अंडमान निकोबार का इतिहास

अंडमान निकोबार का इतिहास

अंडमान निकोबार का इतिहास

History of Andaman and Nicobar

books

संक्षिप्त परिचय

एक ऐसा स्थान जो हमारे स्वतंत्रता सेनानियों से जुड़ा है भारत को आजाद करने के लिए नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने यहाँ एक क्रन्तिकारी कदम उठाया था यहीं से उन्होंने आजाद हिन्द फ़ौज को इकठ्ठा किया था आगे हम “अंडमान निकोबार का इतिहास” के बारे में विस्तार से जानेंगे| जानेंगे कैसे भारत के आजाद होने से पहले अंडमान निकोबार आजाद हुआ| अंडमान के लोगों के रहन सहन से परिचित होंगे वह क्या खाते हैं कैसा उनका जीवन है?

जहाँ तक अंडमान निकोबार में घुमने का सवाल है तो कालापानी जेल का इतिहास जानेंगे क्योंकि यह अंडमान का सबसे मुख्य जगह है जिसके बिना हमारा यात्रा अधुरा माना जाता है| इसके अलावा अंडमान निकोबार का नाम कैसे पड़ा यह जानेंगे| यहाँ के भूगोल और भौगोलिक स्थिति को जानेंगे अंडमान में घुमने के लिए कौन-कौन से बीच (समुन्द्र का किनारा) है उसके बारे में विस्तार से जानेंगे|

अंडमान निकोबार कैसे जाएं? कितना खर्च होगा? अंडमान निकोबार टूर पैकेज क्या-क्या available हैं| वहाँ के “Unexplored places in Andaman” को explore करेंगे इसके अलावा अंडमान में “Unique things to do in Andaman” इसको जानेंगे इसके अलावा अंडमान निकोबार में घुमने की कौन-कौन सी जगह है? और अंत में अंडमान और निकोबार से जुड़ा आपके हर प्रश्न का उत्तर दिया गया है तो चलिए जानते है विस्तार से…  

books

विस्तार से समझें

old andaman photos

अंडमान निकोबार का इतिहास

अंडमान निकोबार द्वीप पर सबसे पहले अंग्रेज आये थे आकर रहने लगे थे दुसरे विश्वयुद्ध के समयकाल में जापान की सेना ने कब्ज़ा कर लिया था और उनका आधिपत्य हो गया था यहीं पर नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की आजाद हिन्द फ़ौज थी भारत आजाद होने से पहले अंडमान निकोबार में सबसे पहले 30 दिसम्बर 1943 के दिन भारत का तिरंगा फहराया गया था और अंग्रेजों से आज़ादी मिली 1947 में जब भारत आजाद हुआ तो इस द्वीप को भारत का केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया|

अंग्रेजो ने भारत में आन्दोलन करनेवाले स्वतंत्रता सेनानियों को सजा देने के लिए अंडमान में सेलुलर जेल (कालापानी) बनवाया था यहीं पर उनको बंदी बनाकर रखा जाता था और तरह-तरह का यातना दिया जाता था वीर सावरकर जैसे लोगों को यहाँ रखा गया था यह एक ऐसा स्थान था जहाँ से भागना लगभग नामुमकिन था चारों तरह विशाल सागर होने के कारण कोई भी बच कर नहीं जा सकता था अंग्रेजों के जहाज सागर में गस्त करते थे कोई भागने का प्रयास करता तो वह उनको पकड़ लेते और यातना गृह में डाल देते|  

अंडमान और निकोबार द्वीप की स्थापना 1 नवम्बर 1956 पोर्ट ब्लेयर में हुआ था इसमें तीन जिले बनाये गए हैं इसके गवर्नर है सेवा निवृत्त एडमिरल देवेन्द्र कुमार जोशी है|

अंडमान राज्य से संबंधित कोई भी विवादित मामला कोलकाता हाई कोर्ट जाता है और वहीं पर इसकी सुनवाई होती है|

यहाँ लोक सभा की एक सीट है जिसपर निर्वाचित होकर वह नई दिल्ली जाते है और अंडमान निकोबार की समस्याओं पर ध्यान आकर्षित करते हैं और विकास का कार्य करते है|

Tribal house in Andaman

अंडमान निकोबार का रहन-सहन

अंडमान निकोबार के मुख्य लोग वहाँ के आदिवासी ही है यहाँ की रहन-सहन बहुत ही साधारण है इनके रहन सहन में इनकी मुख्य संस्कृति में इनका लोकगीत, हस्तशिल्प कला है| आदिवासी समाज में महिलाओं को पूरा सम्मान दिया जाता है वह अपने पसंद के लड़के से शादी कर सकती है वह शादी से पहले यौन संबंध बना सकती है इसके लिए उनको सामाजिक आजादी प्राप्त है|

आदिवासियों का पूजा-पाठ, त्योहार हिन्दुओं से भिन्न है इनके देवी-देवता प्रकृति को मानते है उनकी ही पूजा करते है पेड़ों की पूजा करते है धरती की पूजा करते है इसलिए वह प्रकृति के करीब रहते हैं|

अंडमान निकोबार के आदिवासी जंगलों में रहते हैं अशिक्षित होते हैं, गरीब होते हैं, निर्धन होते हैं यह लोग जादू-टोना में विश्वास करते है इनके अनुष्ठान बड़े विचित्र और अनोखे ढंग से किये जाते है शराब इनको प्रिय होते हैं यह देवी-देवता को शराब अर्पित करने के बाद खुद ग्रहण करते है यह नंगे ही रहते है यह पेड़ो के पत्ते से अपने आप को ढके रहते है कुछ आदिवासी जातियों को सरकार द्वारा सहायता किया जा रहा है जो जंगलों से बाहर निकलकर आ रहें है|

लेकिन अभी भी अंडमान निकोबार में ऐसे-ऐसे द्वीप और जंगल हैं जहाँ लोगों का जाना प्रतिबंधित है उन आदिवासी लोगों के बारे में सरकार को भी कोई जानकारी नहीं होती है|

havelock Island_radhanagar-beach

अंडमान निकोबार जाने का सही समय

अंडमान निकोबार का मौसम घुमने के लिए पुरे साल उपयुक्त रहता है क्योंकि यहाँ का तापमान पुरे साल 20 से 30 डिग्री रहता है जोकि एक उपयुक्त तापमान है उष्णकटिबंधीय द्वीप होने के कारण अंडमान और निकोबार में न तो ज्यादा सर्दी पड़ती है न ही ज्यादा गर्मी और न ही ज्यादा बारिश होती है मौसम लगभग एक जैसा रहता है लेकिन बरसात के दिनों में ऊँचे-ऊँचे लहरें आना आंधी-तूफान चलना चक्रवात तूफान आना इस कारण घुमने में रूकावट हो सकता है इसलिए मेरे हिसाब से बरसात का समय को छोड़कर किसी भी समय आया जा सकता है तो अंडमान जाने का सही समय है अक्तूबर से मई तक this is the best time to visit Andaman Nicobar island.

अंडमान निकोबार का खान पान

आदिवासी जातियों का मुख्य भोजन मछली, झींगा, केकड़ा है इनको समुद्र से प्राप्त होता है समुद्र इनके लिए भोजन का एक अच्छा स्रोत है यह जंगल में पाये जानेवाले अन्य जीव को भी अपना भोजन बनाते है इसके अलावा पेड़ो से प्राप्त फल मधुमक्खी का मधु यह सब इनके भोजन का हिस्सा है अंडमान निकोबार में जारवा समुदाय के जंगली आदिवासी लोग रहते हैं जो बाहरी दुनिया से पूरी तरह अलग रहते हैं इनका सरकार से कोई संपर्क नहीं है इनके क्षेत्र में जाने पर यह लोग उनपर आक्रमण कर मार देते हैं| यह है “अंडमान निकोबार का इतिहास” जो आज भी पाषाण युग में जी रहें है सरकार चाह करके भी इनकी मदत नहीं कर पा रही है|

andaman and nicobar port blair images

काला पानी जेल का इतिहास

सेलुलर (काला पानी) कारागार का नींव 1897 में रखा गया और यह 1906 में बनकर तैयार हुआ यानि बनने में पुरे दस साल लगे जेल के अन्दर कुल 694 कोठरी बनाई गई है जिससे कैदी अलग-अलग रह सके कोई किसी से बात न कर सके|

सेलुलर जेल को ऑक्टोपस की तरह बनाया गया है और बीच में कण्ट्रोल पॉइंट है जिससे एक ही आदमी सभी दिशाओं पर नज़र रख सके| जेल के अन्दर एक संग्रहालय बनाया गया है कैदियों को सजा देने के लिए यातना अस्त्र भी रखा गया है जिससे हमारे स्वतंत्रता सेनानियों पर अत्याचार किये जाते थे| रात में जेल को देखने का अलग ही आनंद है पूरे जेल परिसर को लाइटों से भव्य रूप में सजाया गया है|  

“अंडमान एंड निकोबार की राजधानी” में मुख्य रूप से देखने लायक जगह है सेलुलर जेल है इसके अलावा म्यूजियम है और जो सबसे महत्वपूर्ण चीज है वह है अंडमान के बीच (समुद्र का किनारा) इसको बहुत ही खुबसूरत ढंग से तैयार किया गया है जिसमे वाटर स्पोर्टस् है स्कूबा ड्राइव है आदि|

सेल्यूलर जेल का दूसरा नाम? तो इसको कालापानी भी कहा जाता है क्योंकि यह जेल चारों तरफ से पानी से घिरा हुआ है इसलिए यहाँ से भागना असंभव था इस तरह अंडमान निकोबार का इतिहास बहुत ही दर्द नायक था|

अंडमान निकोबार का नाम कैसे पड़ा?

अंडमान निकोबार शब्द हमारे हिन्दू देवता “हनुमान” से आता है अंडमान शब्द मलय शब्द हांदुमन से लिया गया है अर्थात् हनुमान| निकोबार शब्द का मतलब होता है नग्न यानि नंगे लोगों की भूमि जहाँ लोग नंगे रहते हो इस प्रकार इस द्वीप को अंडमान निकोबार कहा गया|

Dugong-Andaman Nicobar State Animal
Dugong

अंडमान निकोबार में कितने जिले हैं

अंडमान निकोबार में 3 (तीन) जिले है:

पहला: उतर अंडमान जिला

दूसरा: मध्य अंडमान जिला

तीसरा: दक्षिण अंडमान जिला    

State symbols of Andaman Nicobar

State Animal: Dugong and Sea cow

State Bird: Andaman Wood pigeon

State Tree: Andaman Padauk

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह का भूगोल

Geography of Andaman and Nicobar Islands

अंडमान और निकोबार दोनों अलग-अलग द्वीप है दोनों के बीच में 100 km की दूरी है| अंडमान को चार भागो में बंटा गया है north Andaman में सबसे ऊँची चोटी है जो लगभग 732 मीटर ऊँचा है जिसको सैडल पीक कहते है, middle Andaman, Lower Andaman(south Andaman) में port blair है जो की राजधानी है उसके बाद Little Andaman है

फिर सौ किलोमीटर पर निकोबार द्वीप आता है जिसको 10 degree channel कहते है|

उसमे कार निकोबार आता है और अंत में इंदिरा पॉइंट आता है इस गाँव को इंदिरा गाँधी के नाम पर रखा गया जोकि अंतिम द्वीप है जिसे Pygmalion Point भी कहते है|

cellular jail images download

अंडमान निकोबार का इतिहास

History of Andaman and Nicobar

  • सन 1014 ई० से 1042 ई राजेंद्र चोल नाम के एक राजा थे उन्होंने श्रीविजय साम्राज्य देश जिसका वर्तमान नाम इंडोनेशिया है इसके खिलाफ अभियान शुरू करने के लिए अंडमान और निकोबार द्वीप का इस्तेमाल किया|
  • सन 1050 ई० में चोल ने तंजावुर शिलालेख द्वीप को मा-नक्कावरम नाम दिया था|
  • आगे चलके जब इस द्वीप पर अंग्रेज आये तो 1 जनवरी 1756 ई० में निकोबार द्वीप में डेनिश कॉलोनी बनाया गया पहले इस जगह को न्यू डेनमार्क बोला जाता है लेकिन आगे चलकर 1 दिसम्बर 1756 को इस जगह का नाम फेडरिक आइलैंड (फ्रेडरिकसोर्न) रख दिया गया|
  • आगे चलके सौ साल बाद अंग्रेजो द्वारा पोर्ट ब्लेयर कॉलोनी बनाया गया और यही पर अंग्रेजों द्वारा भारतीय अपराधियों को लाया जाता था और यहाँ निर्मित सेलुलर जेल में रखा जाता था जहाँ उन्हें दण्ड दिया जाता था|
  • सन 1950 में अंडमान और निकोबार द्वीप भारत का हिस्सा बना और 6 वर्ष पश्चात (सन 1956) में इसे भारत देश का एक हिस्सा मान लिया गया और इसे केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया गया|
andaman & nicobar beach images

Complete knowledge on Andaman and Nicobar Islands

  • अंडमान निकोबार द्वीप हिन्द महासागर में स्थित है जिसके चारों तरफ महासागर है|
  • अंडमान निकोबार में कितने द्वीप है?- अंडमान निकोबार में कुल 572 द्वीप है जिसमे मात्र 38 द्वीपों को ही सरकार द्वारा मान्यता दिया हुआ है जहाँ लोग जा सकते है अन्य द्वीपों पर जाना मनाही है कोई भी वहाँ नहीं जाता इसका कारण है वहाँ के आदिवासी जनजाति जो किसी भी अन्य लोगों को अपने जमीन में नहीं आने देना चाहते है दूसरा कारण पहाड़ों से खतरनाक रूप से लावा निकलना अन्य कारण भी है जैसे वहाँ तक पहुँचना बहुत ही मुश्किल है इन वजहों से भी वहाँ जाना बहुत मुश्किल है|
  • अंडमान निकोबार को 10 डिग्री चैनल अलग करता है जोकि लगभग 150 किलोमीटर चौड़ा है|
  • अंडमान निकोबार language क्या है? या अंडमान निकोबार की भाषा क्या है? अंडमान में बोली जानेवाली भाषा निम्नलिखित है- अंग्रेजी, बंगला, तमिल यह तीन मुख्य भाषा है|
  • अंडमान निकोबार की पूरी भूमि क्षेत्र 8249 किलोमीटर स्क्वायर है जिसमे 90% सुरक्षित क्षेत्र है और 36% जनजाति लोगों के लिए सुरक्षित है अंडमान निकोबार विकिपीडिया के मुताबित|
  • 90% आबादी अंडमान में रहते है और निकोबार में मात्र 10% लोग ही रहते है
  • अंडमान और निकोबार द्वीप बना कैसे? यह द्वीप बना है इंडियन प्लेस और बर्मा माइनर प्लेट के बीच के टक्कर से|
  • डंकन मार्ग अंडमान और निकोबार को अलग करता है|
  • अंडमान निकोबार का capital पोर्ट ब्लेयर (Port blair) है|
andaman nicobar- Leatherback sea turtle
  • दुनिया का सबसे बड़ा कछुआ (turtle) भी यहीं पर है जिसका नाम Leatherback Sea Turtle उसका scientific name: Dermochelys coriacea यह Carnivore (माँसाहारी) है यह 45 वर्ष तक जीवित रहता है यह 7 फीट लम्बा होता है और 2000 pounds यानि लगभग 907 किलोग्राम का होता है|
  • निकोबार आइलैंड में ग्रेट निकोबार सबसे बड़ा आइलैंड है|
  • Barren and Narcondam island एक मात्र volcanic island है और वह भी active है निकोबार द्वीप में|
  • देश में सबसे ज्यादा चिड़ियाघर (वन्यजीव) अंडमान निकोबार में ही है यहाँ 4 चिड़ियाघर है, 2 नेशनल पार्क और एक जीवमंडल रिज़र्व (biosphere reserve) हैं|
  • Grand channel ग्रेट नोकोबार और सुमात्रा आइलैंड (इंडोनेशिया) के बीच है|
  • Coco Strait नार्थ अंडमान आइलैंड और म्यांमार के कोको आइलैंड के बीच है|
Coconut Robber Crab
  • अंडमान निकोबार में एक ऐसा जीव है जो पेड़ पर चढ़ सकता है नारियल के गोले को तोड़ सकता है जिसका नाम है विशाल डाकू केकड़ा (Giant Robber Crab)
  • अंडमान निकोबार आइलैंड को Emerald Island के नाम से भी जाना जाता है|
  • ग्रेट नोकोबार आइलैंड इंडोनेशिया के सुमात्रा आइलैंड से मात्र 147 की दूरी पर स्थित है|
  • अंडमान निकोबार में सेंटिनल आइलैंड है जो सबसे खतरनाक है जहाँ अगर कोई गलती से भी चला जाए तो वह जिन्दा वापस नहीं आता लाश का भी पता नहीं चलता क्योंकि वहाँ के आदिवासी उसको अपने तीर कमान से मार देते है|
Breadfruit
  • यहाँ एक फल मिलता है जिसको Breadfruit (Artocarpus altilis) कहते है यह एक उष्णकटिबंधीय सदाबहार पेड़ है जिसकी लम्बाई 20-25 मीटर होती है इसे एक औषधीय पेड़ भी कह सकते है जिससे अनगिनत ईलाज किया जाता है ब्रेडफ्रूट एक महान खाद्य पौधा है| यह Family: Moraceae, Habitats: Lowland humid tropics का है|
  • यहाँ मछली पकड़ना शक्त मनाही है|
  • सेलुलर जेल को कालापानी जेल भी कहा जाता है|
  • अगर आप बीस रूपए का नोट देखेंगे तो उसमे अंडमान निकोबार का चित्र देखने को मिलेगा|
  • भारत का पहला (Sea-plane) जल हंस सबसे पहले यहीं पर लांच हुआ|
  • अंडमान अंड निकोबार में कौन-कौन से पर्व मनाये जातें हैं? Festivals of Andaman and Nicobar – Island Tourism Festival, Kali Pooja, Durga Puja यह तीन त्योहार मुख्य रूप से मनाया जाता है|

Andaman Nicobar Questions & Answers

अंडमान निकोबार सामान्य ज्ञान

  • अंडमान निकोबार कैसे जाये? अंडमान निकोबार जाने का सिर्फ दो ही मार्ग है पहला वायुमार्ग और दूसरा जलमार्ग क्योंकि यह एक द्वीप है और चारों तरफ महासागरों से घिरा है|
  • अंडमान निकोबार किस देश में है? यह द्वीपसमूह भारत के अंतर्गत आता है यह भारत का एक केंद्र शासित प्रदेश है जो भारत के आजाद होने से पहले आजाद हुआ था यह हिन्द महासागर और बंगाल की खाड़ी के दक्षिण में स्थित है अंडमान से थाईलैंड और म्यांमार की दूरी मात्र 150 किलोमीटर है|

Click here to download Andaman and Nicobar Islands Map pdf

  • अंडमान निकोबार की राजधानी क्या है?- पोर्ट ब्लेयर है
  • अंडमान निकोबार का किराया कितना है? यह निर्भर करता है की आप किस तरह अंडमान की यात्रा करते हैं हवाई जहाज के माध्यम स